WELCOME

Thanks for visiting this blog. Please share information about this blog among your friends.

Various information, quotes, data, figures used in this blog are the result of collection from various sources, such as newspapers, books, magazines, websites, authors, speakers etc. Unfortunately, sources are not always noted. The editor of this blog thanks all such sources.

Comments and suggestions are invited.

Keshav Ram Singhal
keshavsinghalajmer@gmail.com
krsinghal@rediffmail.com

Technical and Financial Support - Singhal Institute for Training and Education Trust


Saturday, 26 September 2015

वरिष्ठ नागरिक की आयु परिभाषा निर्धारित करने की जरुरत


वरिष्ठ नागरिक की आयु परिभाषा निर्धारित करने की जरुरत
(Need to determine the age definition of senior citizen)


अधिकांश देशों में वरिष्ठ नागरिक या बुजुर्ग व्यक्ति की आयु निर्धारित करने के लिए कोई सर्वमान्य परिभाषा नहीं है. कुछ देशों में 60 वर्ष और अधिक आयु के व्यक्ति को वरिष्ठ (बुजुर्ग) माना जाता है तो कुछ अन्य देशों मंं 65 वर्ष और अधिक आयु के व्यक्ति को वरिष्ठ (बुजुर्ग) माना जाता है. फिलहाल इस सम्बन्ध में कोई संयुक्त राष्ट्र संख्यात्मक मानक कसौटी (UN Standard Numerical Criterian) नहीं है, लेकिन संयुक्त राष्ट्र (UN) बुजुर्गों की आबादी के लिए 60+ वर्ष की सीमा पर सहमत है. बुढ़ापे की परिभाषा के लिए सामान्यतौर पर इस्तेमाल परिभाषाए हैं, पर व्यक्ति कब बुजुर्ग या बूढ़ा हो जाता है पर कोई आम सहमति नहीं है.

1875 में ब्रिटेन में 'The Friendly Societies Act' में बुढ़ापे की उम्र '50 के बाद कोई भी उम्र' परिभाषा के रूप में अधिनियमित की गई, पर ज्यादातर पेंशन योजनाओं में उम्र पात्रता के लिए 60 या 65 साल उम्र मानी गई. भारत में भी सर्वमान्य एक परिभाषा नहीं है. आयकर अधिनियम के अंतर्गत वर्तमान में 60 वर्ष से 80 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति को वरिष्ठ नागरिक और 80 वर्ष और अधिक आयुके व्यक्ति को अति-वरिष्ठ नागरिक माना गया है, जबकि कुछ वर्ष पहले 65 वर्ष या अधिक आयु के व्यक्ति को वरिष्ठ नागरिक माना जाता था. भारत सरकार का रेल विभाग रेल टिकट और आरक्षण के लिए 58 वर्ष और अधिक आयु की महिला तथा 60 वर्ष और अधिक आयु के पुरुष को वरिष्ठ नागरिक मानकर रेल टिकट किराए में छूट और रेल आरक्षण में आरक्षण-भाग (Reservation quota) प्रदान करती है. भारत सरकार और अधिकांश राज्य सरकारों की सामाजिक सुरक्षा और वृद्धावस्था पेंशन योजनाओं में 60 वर्ष की आयु पात्रता के लिए रखी गई है. एयर इंडिया भारतीय राष्ट्रीयता के वरिष्ठ नागरिक, जो स्थाई रूप से भारत में निवास करते हों तथा यात्रा के दिन जिन्होंने 63 वर्ष की आयु पूरी कर ली हो, को किराए में रियायत देती है.

भारत में अब पूँजीवाद (Capatalism) धीरे-धीरे अपना पैर पसार रहा है और तकनीक विकास (Technology development) तेजी से हो रहा है. मानव द्वारा किए जाने वाले बहुत से काम अब तकनीक की सहायता से होने लगे हैं और मानव निर्भरता (Human-dependance) कम हो रही है. परिणाम सामने है - रोजगार के अवसर कम हो रहे हैं. लोगों को नौकरी से निकाला जा रहा है, अनिवार्य या स्वैच्छिक सेवानिव्रति (Compulsory or voluntary retirement) दी जा रही है. ऐसे में अब 55 वर्ष और अधिक आयु को वरिष्ठ नागरिक की एक सर्वमान्य परिभाषा के रूप में निर्धारित करने की जरुरत महसूस हो रही है.

आप इस बारे में क्या सोचते हैं? अपनी राय अवश्य रखें.

इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि वरिष्ठ नागरिक की एक सर्वमान्य परिभाषा बनाने के लिए सरकारी-तन्त्र पर दवाब बन सके. धन्यवाद,

- केशव राम सिंघल

Please CLICK HERE for Senior Citizen Awareness Group.


No comments:

Post a Comment